English | हिंदी | Site Map | Home

     
     



new    ई – भर्ती के लिए यहां क्लिक करे ।

अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का संदेश

डॉ दिनेश कुमार लेखी                                                                  

अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक

 

प्रिय भागीदारों,      

वित्‍तीय वर्ष 2015-16 की समाप्ति के अवसर पर मैं उन सब भागीदार साथियों को धन्‍यवाद देता हूँ , जिन्‍होंने मिधानि के अब तक के सर्वश्रेष्‍ठ निष्‍पादन में अपना योगदान दिया है । मैं इस वर्ष के कुछ अभूतपूर्व वित्‍तीय सूचकों पर प्रकाश डालना चाहता हूँ । जो निम्‍नानुसार हैं :

  • वित्‍तीय वर्ष 2014-15 के 655 करोड़ की तुलना में, इस वर्ष के बिक्री - टर्नओवर 15% की वृदि्ध के साथ 760 करोड़ रु. रहा ।
  • वित्‍तीय वर्ष 2014-15 के 138 करोड़ की तुलना में , कर पूर्व लाभ (PBT) 12% की वृद्धि के साथ 155 करोड़ रहा ।
  • वित्‍तीय वर्ष 2015-16 में ' प्रति कर्मचारी उत्‍पादकता ' तथा ' प्रति कर्मचारी मूल्‍य संवृदि्ध ' में 25% की वृद्धि हुई जो क्रमश: 1 करोड़ प्रति कर्मचारी तथा 65 लाख रु. प्रति कर्मचारी रही ।

आपमें से हरेक साथी को, वित्‍तीय वर्ष 2015-16 की हमारी उपलब्धियों से अवगत करवाना चाहूँगा ।

– हमारे ग्राहक :

वित्‍तीय वर्ष 2015-16 चुनौतीपूर्ण होने के बावजूद, ग्राहक संबंधों की दृष्टि से हमारे लिए एक उत्‍पादक वर्ष था । इस वित्‍तीय वर्ष की सबसे बड़ी उपलब्धि, 909 करोड़ की अभूत - पूर्व आदेश - बुकिंग है ।

मैं अपने समस्‍त ग्राहकों को धन्‍यवाद देता हूँ जिन्‍होंने हमें सेवा का अवसर दिया साथ ही सभी चुनौतियों का सामना करते हुए, आप सबको समयबद्ध आपूर्ति और स्‍पर्धात्‍मक - लागत के प्रति मिधानि की प्रतिबद्धता के प्रति पुन:आश्‍वस्‍त करता हूँ ।

वित्‍तीय वर्ष 2015-16 में हमारे निष्‍पादन तथा समयबद्ध आपूर्ति में अपार सुधार हुआ है जिसके फलस्‍वरूप एल.डी. कटौती में 30% की कमी आई है ।

इस वर्ष हमारी अस्‍वीकृतियॉं न्‍यूनतम स्‍तर पर रही हैं । हमारे सभी ग्राहक यह सुनिश्चित कर लें कि, निकट भविष्‍य में, मिधानि, लिक्विडेटेड क्षतियों तथा अस्‍वीकृतियों को ' शून्‍य ' स्‍तर तक लाने हेतु प्रतिबद्ध है ।

अब हमारे यहॉं एक नई रोलिंग मिल, 6000 टी फोर्ज प्रेस, 20 टी ई.ए.एफ, एल.एफ, वी.डी / वी.ओ.डी, नई ई.एस.आर, नई वी.ए.आर. सुविधाऍ, आदि उपलब्‍ध हैं। एक सैहार्दपूर्ण पारिसि्यतक प्रणाली के सर्जन के अलावा, मिधानि टंग्‍स्‍टन, कार्बन - फ़ाइबर, आयुध, अल्‍युमिनम मिश्र धातुओं के उत्‍पादन के विभिन्‍न नवीन क्षेत्रों में प्रवेश करने हेतु तत्‍पर है ।

मिधानि द्वारा कुछ प्रमुख संगठनों जैसे- बी.एच.ई.एल, सेल, एन.टी.पी.सी. आदि के साथ समझौता-ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किया जाना, मिधानि की योग्‍यता पर उनके विश्‍वास का द्योतक है । कस्‍टमाइज्‍ड मिश्रधातुओं पर फ़ोकस करते हुए हम वृद्धि की इस यात्रा में, हम अपने नये पार्टनरों का हार्दिक स्‍वागत करते हैं।

सामरिक क्षेत्रों के लिए उच्‍च निष्‍पादन वाली मिश्र धातुओं के विकास तथा आपूर्ति की हमारी इस संयुक्‍त यात्रा में मैं आप सबके अमूल्‍य सहयोग एवं साझेदारी की कामना करता हूँ ।

– हमारे विक्रेता :

विक्रेता हमारे प्रगति - पथ के सहभागी रहे हैं। " मेक इन इंडिया " की पहल के तहत हमने आयातित श्रेणी की कुछ मदों (उत्‍पादों) की एक सूची तैयार की है जिसकी आपूर्ति देशज विक्रेताओं द्वारा की जानी है । हम अपने सभी विक्रेताओं जैसे: घरेलू और अंतर्राष्‍ट्रीय मूल के, छोटे, माध्‍यम तथा बड़े आकार वाले विक्रेताओं पर नियमितता, गुणवत्‍ता तथा हमारी मूल्‍य - श्रृंखला को सशक्‍त बनाने वाली निवेश - सामग्रियों की आपूर्ति हेतु निर्भर है । हमारे तैयार ( फाइनल ) उत्‍पादों की लागत कम करने के लिए, हमें स्‍पर्धात्‍मक लागत पर गुणता - संसाधनों को विशेषकर एल.पी.जी. तथा अन्‍य मुख्‍य कच्‍चा माल उपलब्‍ध करवाने के लिए हम आपको धन्‍यवाद देते हैं ।

बेहतर विक्रेता-आधार, ई-प्रापण के कार्यान्‍वयन तथा संवर्धित बाजार-बुद्धिमता के द्वारा भी मिधानि लाभान्वित हुआ है ।

दोनों पक्ष अजेय सि्थति हासिल कर सकें इसलिए भविष्‍य में भी हमें आपके सहयोग की अपेक्षा रहेगी ।

– कर्मचारीगण :

एक मूल्‍य - प्रसारक उद्यम के रूप में, मैं मिधानि - परिवार के समस्‍त को, सामरिक मानव संसाधन विकास के प्रवर्धन के प्रति आश्‍वस्‍त करता हूँ । ये सारे प्रयास " प्रतिभा प्रबंधन " को सुनिश्चित करने की दिशा में किये जाएँगे । 

वित्‍तीय वर्ष 2015-16 के दौरान हमने मिधानि में अभूतपूर्व " प्रति कर्मचारी मूल्‍य संवृद्धि " तथा " प्रति कर्मचारी उत्‍पादकता " हासिल की है ।

मिधानि ने सदैव प्रतिभागितापूर्ण प्रबंधन-संस्‍कृति को प्रोत्‍साहित किया है तथा सौहार्दपूर्ण औद्योगिक संबंधों को सफलतापूर्वक निभाया है जिसके तहत वित्‍तीय वर्ष 2015-16 में बेहतर प्रतिभा-प्रबंधन हेतु निम्‍नलिखित योजनाएँ लागू की गई ।

  • 2007 से पूर्व सेवानिवृत्‍त हुए कार्यपालकों तथा अकार्यपालकों के लिए चिकित्‍सा योजनाएँ।
  • दीर्घकालिक रोगों के लिए दवाइयों का वितरण ।
  • 40 वर्ष से अधिक आयु वाले कर्मचारियों के लिए संपूर्ण स्‍वास्थ्‍य - चेकअप ।
  • एम्‍प्‍लॉई ऑफ द इअर - योजना को कायम रखना ।
  • नई संभावनाओं से लबालब भविष्‍य तथा लुभावनी चुनौतियाँ मिधानि को एक ऐसे संगठन के रूप में रूपांतरित करेंगी जहॉं के कर्मचारीगण आत्‍म-उत्‍प्रेरण, संवेदनशीलता तथा आत्‍मविश्‍वास से भरपूर होंगे । मुझे विश्‍वास है कि, हमारे समस्‍त कर्मचारीगण (नियमित, कांट्रैक्ट व कॅजुअल) हमारी कंपनी को एक नई ऊँचाई तक अवश्‍य पहुँचाएँगे ।

- सरकार :

मैं, राज्‍य तथा केन्‍द्र दोनों सरकारों के कानून व नियमों का अनुपालन करते हुए मिधानि की, एक दायित्‍वपूर्ण नैगमिक इकाई बने रहने की प्रतिबद्धता को पुन:दोहराता हूँ । लाभ-अर्जन करने तथा निरंतर भारत सरकार को, लाभांश का भुगतान करने वाला उद्यम मिधानि, भारत के रक्षा उद्योग के सामरिक क्षेत्रों तथा परमाणु ऊर्जा सैटेलाइट लॉंच वाहनों, विमानों आदि की आवश्‍यकताओं की पूर्ति के लिए भारत माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की, 'मेक इन इंडिया' की अवधारणा के तहत विशिष्‍ट धातुओं तथा मिश्र धातुओं का विकास जारी रखेगा ।

मिधानि द्वारा प्रदत्‍त समेकित लाभांश, हमारी ईक्विटी पूँजी के आधार को पार कर चुका है और अपने कुल आउटपुट में से 90% भाग रक्षा क्षेत्रों को राष्‍ट्रीय वरीयता के कारण सप्‍लाई कर चुका है ।

- समाज :

मैं समाज को यह आश्‍वासन दे सकता हूँ कि, मिधानि हमेशा समाज के हित में ही निर्णय लेगा और सामाजिक लाभ की गतिविधियॉं करेगा ।

वित्‍तीय वर्ष 2015-16 में मिधानि द्वारा नैगमिक सामाजिक दायित्‍व के क्रियाकलाप किये गए जिनमें स्‍कूली शिक्षा, कौशल - विकास स्‍वास्‍थ्‍य एवं स्‍वच्‍छता शामिल है । मिधानि द्वारा इसके तहत शौचालय निर्माण, महिला सशक्‍तीकरण, हरित एवं प्रदूषण रहित परिवेश का सृजन आदि कार्य किये गए । वित्‍तीय वर्ष 2015-16 के दौरान मिधानि द्वारा सीएसआर गतिविधियों हेतु लगभग 3 करोड़ रु. खर्च किये गए ।

मिधानि सदैव समाज के प्रति उत्‍तरदायी रहेगा ।

- आगामी वर्ष

उपर्युक्‍त उपलब्धियों की पृष्‍ठभूमि पर वर्ष 2016-17 में हम निम्‍नलिखित लक्ष्‍यों को हासिल कर पाएँगे ऐसा मुझे विश्‍वास है ।

  • 1000 करोड़ के बिक्री - टर्नओवर का लक्ष्‍य ।
  • पूँजी - व्‍यय का लक्ष्‍य - 100 करोड़ ।
  • नवप्रवर्तित मेल्‍ट शॉप - IV के माध्‍यम से 5000 टन स्‍टील का उत्‍पादन ।
  • उत्‍पादन - लागत में 10% तक कमी ।
  • विभिन्‍न क्षेत्रों जैसे - टंग्‍स्‍टन, कार्बन - फाइबर, आयुध, अल्‍युमिनम मिश्रधातुओं आदि की रूपरेखा को अंतिम रूप देना ।
  • निर्यात की शुरुआत ।

आप सबको मेरी शुभकामनाएँ, आपके सहयोग व स्‍नेह की अपेक्षा है । हमारा मूलमंत्र है- '' साथ मिलकर हमने कर दिखाया, और आगे भी कर दिखाएँगे । '' – “WE HAVE DONE IT TOGETHER, TOGETHER WE WILL DO IT”.

हार्दिक शुभेच्‍छा एवं शुभकामनाएं



यह मिश्र धातु निगम लिमिटेड- एक मिनी रत्‍न स्‍टेटस वाले सार्वजनिक उद्यम, रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार की सरकारी वेबसाइट है ।
कॉपीराइट (सी) 2015 मिश्र धातु निगम लिमिटेड (मिधानि) ।